ताजा खबरें

इंस्पेक्टर और सब-इंस्पेक्टर सहित 4 सस्पेंड, पुलिस हिरासत में हुई व्यक्ति की मौत।

 

तेलंगाना: के मेडक जिले में कथित यातना के बाद पुलिस हिरासत में एक व्यक्ति की मौत के मामले में रविवार को चार पुलिस अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया। मेडक की पुलिस अधीक्षक रोहिणी प्रियदर्शिनी ने कहा कि मेडक शहर के सर्किल इंस्पेक्टर मधु, सब-इंस्पेक्टर राजशेखर और कांस्टेबल प्रशांत और पवन कुमार को निलंबित कर दिया गया है। पुलिस महानिरीक्षक चंद्रशेखर रेड्डी ने उनके निलंबन का आदेश दिया, एक दिन बाद पुलिस महानिदेशक अंजनी कुमार ने घटना की एक वरिष्ठ अधिकारी द्वारा जांच का आदेश दिया।

 

डीजीपी ने आईजीपी को कामारेड्डी जिले के एक वरिष्ठ अधिकारी को जांच सौंपने और जांच की निगरानी करने का निर्देश दिया था। पुलिस प्रमुख ने यह भी घोषणा की कि इंस्पेक्टर और सब-इंस्पेक्टर के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू कर दी गई है। दिहाड़ी मजदूर मोहम्मद कदीर (35) ने शुक्रवार को पुलिस की प्रताड़ना के कारण लगी चोटों के कारण दम तोड़ दिया। इस व्यक्ति को चोरी के एक मामले में शामिल होने के संदेह में 29 जनवरी को हैदराबाद में उसकी बहन के घर से उठाया गया था। उसे मेडक ले जाया गया, जहां पुलिस ने कथित तौर पर उसे पांच दिनों तक अवैध हिरासत में रखा और प्रताड़ित किया।

 

कदीर को 2 फरवरी को छोड़ दिया गया था। उसके परिवार ने आरोप लगाया कि उसे पुलिस द्वारा थर्ड-डिग्री तरीकों का इस्तेमाल करके प्रताड़ित किया गया। कथित प्रताड़ना के कारण कादिर अपने पैरों पर खड़ा नहीं हो सका और उसके गुर्दे भी खराब हो गए। 9 फरवरी को उन्हें मेडक के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। कादिर की हालत लगातार बिगड़ती जा रही थी, उसे बेहतर इलाज के लिए हैदराबाद के गांधी अस्पताल रेफर कर दिया गया। हालांकि, 17 फरवरी को उन्होंने दम तोड़ दिया। उनके परिवार में उनकी पत्नी और दो बच्चे हैं। शनिवार की सुबह पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया और बाद में मेडक में दफना दिया गया।

Rashifal