ताजा खबरें

छत्तीसगढ़ में बीजेपी को तलाश है नए चेहरों की…CM बघेल ने चुटकी लेते हुए बोले- अजय-बृजमोहन जी से कहा जबरदस्ती अपना गला खराब।

 

हेलीपैड में मीडिया से की बातचीत।

 

रायपुर: छत्तीसगढ़ भाजपा में विधानसभा चुनाव के लिए नए चेहरों की तलाश की खबरों पर सीएम भूपेश बघेल ने चुटकी ली है। उन्होंने कहा, मैं पहले से ही कह रहा हूं कि ये जो 14 बचे हैं, किसी का भी टिकट पक्का नहीं है। मैंने अजय चंद्राकर-बृजमोहन जी से कहा कि नंबर बढ़ाने के लिए आप जबर्दस्ती अपना गला खराब करते हैं। उससे कोई फर्क नहीं पड़ना है। किसी को टिकट मिलेगा या नहीं, इसकी कोई गारंटी नहीं है।

 

बता दें कि छत्तीसगढ़ में 15 साल की सरकार के बाद 2018 के चुनाव में भाजपा सिर्फ 15 सीटों पर सिमट गई। इनमें से भी एक विधायक भीमा मंडावी की नक्सलियों ने हत्या कर दी। लोकसभा चुनाव में भाजपा ने पुराने चेहरों के बजाय हर सीट से नए उम्मीदवार को उतारा। 11 में से 9 सीटों पर भाजपा को जीत मिली। इसके बाद से ही सियासी गलियारे में यह चर्चा है कि इस बार विधानसभा चुनाव में भाजपा 90 सीटों पर नए प्रत्याशी को उतारेगी। हालांकि छत्तीसगढ़ प्रभारी ओमप्रकाश माथुर यह स्पष्ट कर चुके हैं कि छत्तीसगढ़ में गुजरात फॉर्मूला लागू नहीं होगा। हर बार चुनाव में भाजपा 30 से 40 प्रतिशत नए चेहरों का मौका देती है।

 

जनगणना ही मुख्य आधार

 

हेलीपैड में मीडिया से बातचीत में सीएम ने बताया कि नई दिल्ली में पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात हुई। इस दौरान जनगणना, आरक्षण, जीएसटी, कोल रॉयल्टी और दुर्ग से नवा रायपुर मेट्रो के संबंध में बातचीत हुई। पीएम से जनगणना कराने की मांग रखी। उन्हें बताया कि 12 साल से जनगणना नहीं होने के कारण जो नए हितग्राही हैं, उन्हें लाभ नहीं मिल पा रहा है। लोगों से जब मुलाकात होती है तो वे बीपीएल राशन कार्ड, आवास की मांग करते हैं।

हम 2011 की जनगणना के हिसाब से चल रहे हैं। नई रिपोर्ट नहीं आई है। छत्तीसगढ़ में अनुसूचित जाति के लोग आरक्षण बढ़ाने की मांग करते हैं। जनगणना में जो नए आंकड़े आएंगे, उसमें यदि संख्या बढ़ेगी तो आरक्षण भी बढ़ेगा। जनगणना ही मुख्य आधार है, इसलिए राष्ट्रीय महाधिवेशन में जनगणना का प्रस्ताव पास किया गया। इस कारण पीएम से जनगणना

Rashifal