ताजा खबरें

CG के लोग नहीं जानते दारू पीने का स्टाइल: मंत्री लखमा बोले- जब तक जिंदा हूं।

 

बस्तर: छत्तीसगढ़ में शराबबंदी का मुद्दा काफी चर्चा में है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इसके लिए जनजागरूकता की बात कही है। अब आबकारी मंत्री कवासी लखमा का भी बयान सामने आ गया है। मंत्री लखमा ने कहा है कि, छत्तीसगढ़ में अगर शराबबंदी हो भी गया तब भी जब तक वो जिंदा है बस्तर में शराबबंदी नहीं होगी।

 

दरअसल, आबकारी मंत्री कवासी लखमा बस्तर में प्रियंका गांधी के दौरे की तैयारियों का जायजा ले रहे है। इस दौरान उन्होंने मीडिया के बात करते हुए शराबबंदी को लेकर बयान दिया है। कवासी लखमा ने कहा कि, विदेशों में 100 प्रतिशत तो वहीं बस्तर में 90 प्रतिशत लोग शराब का सेवन करते हैं। लेकिन दारू पीने का स्टाइल नहीं जान रहे है. खेती करने वाले, भारी भरकम सामान उठाने वाले मजदूर काम करने के लिए दारू पीते हैं।

डॉ रमन और बृजमोहन को इसका अहसास नहीं होगा: मंत्री लखमा।

यदि वे दारू न पिएं तो उनसे काम नहीं हो पाएगा। उन्होंने कहा कि, नगरनार प्लांट, NMDC खदान समेत अन्य फैक्ट्रियों पर काम करने वाले मजदूरों को दारू की जरूरत होती है। क्योंकि, दारू दर्द खत्म करता है। पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह और बृजमोहन अग्रवाल को इसका ऐहसास नहीं होगा। क्योंकि, उन्होंने कभी न तो बोरी उठाई है और न ही कोई भारी भरकम काम किया है। इसलिए कुछ भी कहते रहते हैं।

IG बिलासपुर ने मुंगेली का किया वार्षिक निरीक्षण,परेड की ली सलामी,दरबार में पुलिस कर्मचारियों की सुनी समस्याएं, SP कार्यालय का किया निरीक्षण,अधिकारियों की ली बैठक,दिए आवश्यक दिशा निर्देश,पढ़िए विस्तार से,,,,,

पुलिस अधीक्षक ने किया जिले के आधा दर्जन से अधिक थाना,चौकी का आकस्मिक निरीक्षण,लंबित मामलों का अविलंब निराकरण करने के दिये सख्त निर्देश,साथ ही मादक पदार्थ की तस्करी, जुआ-सट्टा पर पूर्णतः रोक लगाने के निर्देश दिए,,,

विजिबल पुलिसिंग के तहत सघन चेकिंग अभियान, 150 से अधिक नाबालिग वाहन चालक, तीन सवारी, शराब पीकर वाहन चलाने एवं मॉडिफाइड साइलेंसर वाले वाहन चालकों पर हुई कार्यवाही, 65 हजार से अधिक की हुई चलानी कार्यवाही,,,

Rashifal