ताजा खबरें

स्व. हनुमान प्रसाद जैन की आज तेरहवीं जशपुर में विशाल शोक सभा और श्रद्धांजलि कार्यक्रम,दिगम्बर जैन समाज के राष्ट्रीय पदाधिकारी, कई राज्यों के गणमान्य लोग, व्यवसायी, उद्योगपति, राजनैतिक दलों के जनप्रतिनिधि होंगे शामिल

 

जशपुरनगर. दिगम्बर जैन समाज के आधार स्तम्भ एवं ख्यातिलब्ध व्यवसायी स्व. हनुमान प्रसाद जैन का ८७ वर्ष की आयु में १९ मई को तडक़े करीब ४:३७ बजे राजधानी रायपुर के रामकृष्ण केयर अस्पताल में इलाज के दौरान निधन हो गया था, आज जशपुर में उनकी तेरहवीं है। जिसमें झारखंड, बिहार, दिल्ली,मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, पश्चिमबंगाल, जम्मूकश्मीर उत्तरप्रदेश, छत्तीसगढ़ के सहित दिगम्बर जैन समाज के राष्ट्रीय पदाधिकारी गणमान्य लोग, व्यवसायी, उद्योगपति, राजनैतिक दलों के जनप्रतिनिधि इस शोक सभा और श्रद्धांजलि कार्यक्रम में अपनी संवेदना प्रकट करने जशपुर आ रहे हैं। मौसम के रुख को देखते हुए उनके गृहनिवास पर विशाल डोम का निर्माण किया गया है, जहां शोकसभा एवं पगड़ी की रस्म का आयोजन किया गया है।
जशपुर के बड़े कारोबारी एवं समाजसेवी स्व. हनुमान प्रसाद बडज़ात्या वरिष्ठ व्यवसायी विनोद जैन, राजकुमार जैन एवं दिलीप जैन के पिता थे। हनुमान प्रसाद जैन संत शिरोमणि आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज के अनन्य भक्त थे, प्रदेश और देश के कई हिस्सों में जैन तीर्थों के निर्माण में, साधु संतों की सेवा में उनकी अग्रणी भूमिका रही है। उनके निधन पर सकल दिगम्बर जैन समाज के द्वारा उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गई
समाज सेवा में स्थापित किए उंचे मानदण्ड
एक सफल कारोबारी के रूप में स्थापित होने के साथ ही स्व. हनुमान प्रसाद जैन ने समाज सेवा के क्षेत्र में लगातार उंचे मानदण्ड स्थापित किए, वे निरंतरता से मानव सेवा के माध्यम से नारायण सेवा में मरते दम तक लगे रहे। पड़ोसी राज्य झारख्ंड की राजधानी रांची में स्थित भगवान महावीर हॉस्पीटल एवं रिसर्च सेंटर मेडिका, के आप संस्थापक सदस्य थे। स्व. हनुमान प्रसाद जैन जशपुर दिगम्बर जैन विद्यालय और औषघालय के अध्यक्ष रहे, जैन समाज के दशकों तक अध्यक्ष, वर्तमान में समाज के संरक्षक थे। जशपुर में जैन स्कूल के लिए उन्होंने शहर में बेशकीमती ३ एकड़ २२ डिस्मिल भूमि का दान किया। उनके दान से वर्तमान में आधुनिक सुविधायुक्त एंबुलेंस वाहन जशपुर में चल रहा है। कोरोना काल में उनके द्वारा जशपुर जिला अस्पताल में भर्ती कोरोना पीडि़तों और उनके परिजनो और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के लिए शुरू किए गए नि:शुल्क टिफिन सेवा, मानव सेवा के अनुकर्णीय उदाहरण हैं। १९ मई को स्व. हनुमान प्रसाद जैन के निधन पर उनके कारोबारी पुत्रों ने उनकी स्मृति में शहर के तीन सार्वजनिक स्थानो में वॉटर कूलर लगाने की नगरपालिका से अनुमति मांगी थी जो मिल गई, इनका निर्माध कार्य जल्द पूरा कर लिया जाएगा। इसी क्रम में जशपुर जिला चिकित्सालय में भर्ती मरीजों के अटेन्डेंट के लिए टॉयलेट ब्लॉक सहित हॉल के निर्माण के लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से अनुमति मांगी गई थी। इसकी अनुमति भी मंगलवार को सीएमएचओ से मिल गई है, और कैजवल्टी वार्ड के समीप इस हॉल का निर्माण शुरू कर दिया जाएगा।
————————————————————————-

Rashifal