ताजा खबरें

हड़ताली कर्मचारियों के नियमितीकरण का मुद्दा गरमाया, प्रस्ताव पर चर्चा ।

 

रायपुर: छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र के तीसरे दिन प्रदेश में अनियमित कर्मचारियों का मुद्दा जोरदार तरीके से गरमाया। विपक्ष ने हड़ताल में बैठे कर्मचारियों के नियमितीकरण के मामले को लेकर स्थगन प्रस्ताव लाया और चर्चा कराने की मांग रखी। आसंदी ने विपक्ष के स्थगन प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया, जिसके बाद नाराज विपक्ष सदस्यों ने अपनी जगह पर खड़े होकर हंगामा शुरु कर दिया। हंगामे की वजह से सदन की कार्यवाही 5 मिनट के स्थगित करनी पड़ी।

 

 

बता दें कि बजट सत्र शुरु होने के साथ ही सदन में प्रदेशभर के अनियमित कर्मचारियों का मसला गूंज रहा है। दूसरे दिन मुख्यमंत्री से इस विषय पर सवाल रखा गया था, जिस पर उन्होंने नियमितीकरण के लिए समय सीमा बता पाना असंभव कह दिया था। आज एक बार फिर मामला गूंजा और विपक्ष ने स्थगन प्रस्ताव लाते हुए दैनिक वेतन भोगी, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका, मध्यान भोजन रसोईया और दिवंगत पंचायत शिक्षक अनुकंपा नियुक्ति संघ के आंदोलन का जिक्र करते हुए इस पर चर्चा कराने की मांग की।

 

 

विधानसभा अध्यक्ष की गैरमौजूदगी में आसंदी पर बैठे विधानसभा उपाध्यक्ष संतराम नेताम ने विपक्ष के द्वारा सदन में लाए गए स्थगन प्रस्ताव को सुना, लेकिन इस पर चर्चा कराए जाने से इंकार कर दिया। जिससे नाराज भाजपा विधायक अपनी जगह पर खड़े होकर नारेबाजी करने लगे। हंगामा को देखते हुए विधानसभा उपाध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही 5 मिनट के लिए स्थगित करने की घोषणा कर दी।

Rashifal