ताजा खबरें

VIDEO Bemetara : दो समुदायों के बीच बवाल,एक व्यक्ति की मौत,पुलिस कर्मी भी घायल,क्षेत्र में धारा 144 लागू, आसपास के जिलों की पुलिस मौके पर, 11 लोगो पुलिस की हिरासत में, छावनी में तब्दील गांव,फिलहाल माहौल शांत,

बेमेतरा जिला के साजा ब्लाक के अंतर्गत बीरनपुर गांव में बच्चों से उपजा विवाद बड़ा रूप ले लिया और दो पक्षों में खूनी संघर्ष हो गया देखते ही देखते मौके पर ही एक युवक की मौत हो गई और जमकर लाठी-डंडे चले जिससे थाने की पुलिस निरीक्षक बीयर ठाकुर गंभीर रूप से घायल हो गए जिन्हें साजा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया,

वहीं गांव में दो पक्षों के बीच हुए इस तनाव को देखते हुए दुर्ग रेंज के आईजी आनंद छाबड़ा बेमेतरा के कलेक्टर एसपी मौके पर पहुंचकर शांति व्यवस्था कायम करने पहुँचे, वहीं गांव में धारा 144 लगा दी गई है, दीगर जिले से भी पुलिस बल बुला ली गई है। मामले को लेकर बेमेतरा के कलेक्टर पदुम सिंह एल्मा ने कहां की दो पक्षों में विवाद हुआ है जिसे लेकर पुलिस बल बुलाकर धारा 144 लगाई गई है फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है वही बेमेतरा के एसपी आई कल्याण एलेसेला ने कहां की गांव में हुए उत्पाद को लेकर पुलिस ने 11 लोगों को चिन्हांकित किया है जिसमें 9 लोगों को पुलिस ने कस्टडी में ले लिया है युवकों ने पैरा में आगजनी की है वह एक वाहन को भी आग लगा दिया है ।

बेमेतरा की घटना पर पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह ने कहा
यह घटना निंदनीय है, छत्तीसगढ़ में पहले ऐसा नहीं हुआ

वही मामले में पूर्व नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने बेमेतरा मामले को लेकर कहा यह घटना बड़ा हृदय विदारक है,जितनी निंदा किया जाए वह कम है, कवर्धा की घटना का आग अभी तक बुझा नहीं है और यह घटना सामने आ गए, सरकार के संरक्षण में हो रहा है यह घटना,

यह है पूरा मामला

बेमेतरा जिले के अंतर्गत आने वाले साजा थाना क्षेत्र के बिरनपुर गांव का है जहां पर स्कूल से लौट रहे स्कूली बच्चे ने दूसरे बच्चे को अपने साइकल से कट मार दिया जिसके चलते बच्चों में आपस में विवाद हो गया बच्चों का विवाद इतना बढ़ा कि इसमें बड़े भी शामिल हो गए और दो पक्षों में जमकर खूनी संघर्ष हो गया जिसके चलते एक 23 वर्षीय युवक ईश्वर साहू की मौत हो गई वहीं चार लोग गंभीर रूप से घायल हैं जैसे ही पुलिस को दो पक्षों में विवाद की जानकारी मिली साजा थाने के उपनिरीक्षक बीआर ठाकुर भी अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे लेकिन ग्रामीणों ने उनके ऊपर भी हमला कर दिया जिसके चलते वह गंभीर रूप से घायल हो गए और उन्हें सजा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया, जहां उनका इलाज चल रहा है वही आक्रोशित भीड़ ने गांव में एक पिकअप वाहन को भी जला दिया दिया,