ताजा खबरें

एक और बेटी चढ़ी दहेज की भेंट” गला दबा कर की हत्या और लटका दिया फांसी पर,मामले में पति,सास,ससुर,देवर सहित दादी सास गिरफ्तार, आरोपियो ने दहेज की मांग को लेकर दिया था घटना घटना को अंजाम।

 

जांजगीर: पुलिस अधीक्षक कार्यालय द्वारा मिली जानकारी के मुताबिक आसीम उम्र 20 वर्ष निवासी पौना वार्ड नंबर 9 द्वारा थाना मुलमुला में रिपोर्ट दर्ज कराया कि उसकी भाभी पूनम लहरे उम्र 24 वर्ष जिसकी दिमागी हालत ठीक नहीं होने से घर के परछी से लगे कमरा में अपनी साड़ी को फांसी का फंदा बना कर फांसी लगाकर आत्महत्या कर करने की रिपोर्ट दर्ज कराया था जिस पर मुलमुला थाने में मर्ग पंजीबद्ध कर जांच में लिया गया।

 

वहीं मामला नव विवाहिता होने से मर्ग जांच पंचनामा कार्यवाही कार्यपालिक दण्डाधिकारी से कराया गया। मर्ग जांच के दौरान मृतिका के परिजनों के कथन, घटना स्थल निरीक्षण, परिस्थिति जन्य साक्ष्य एवं पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर मृतिका की गला दबाकर हत्या करना पाये जाने व आरोपियो द्वारा फांसी लगाकर आत्महत्या करने संबंधी रिपोर्ट दर्ज कराने पर धारा 302,304B,201,34 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

 

विवेचना के दौरान मृतिका को उसके पति आशीष लहरे, देवर आसीम लहरे, ससुर धनंजयपाप लहरे, सास पूर्णिमा लहरे, दादी सास शांताबाई लहरे, सुनिता लहरे के द्वारा मृतिका से गाड़ी, रुपया पैसा, जेवर एवं रुपयों की मांग करते हुए मारपीट कर प्रताडित करते हुए हत्या करके साक्ष्य को छुपाते हुए फांसी की घटना की रिपोर्ट दर्ज कराना पाये जाने पर घटना को अंजाम देने वाले आरोपी 1 आशीष लहरे उम्र 24 वर्ष, 2- आसीम लहरे उर्फ प्रिंस उम्र 22 वर्ष 3- धनंजय लहरे उम्र 45 वर्ष, 4- श्रीमती पुर्णिमा लहरे उम्र 40 वर्ष 5 शांता बाई लहरे उम्र 61 वर्ष 6- सुनिता लहरे उम्र 40 वर्ष सभी ग्राम पौना थाना मुलमुला को दिनाँक 13.फरवरी.23 को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड में भेजा गया।

आरोपियो को गिरफ्तार करने एवं विवेचना कार्यवाही में श चन्द्रशेखर परमा, उप पुलिस अधीक्षक, थाना प्रभारी मुलमुला संतोष कुमार शर्मा एवं स्टाफ का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

IG बिलासपुर ने मुंगेली का किया वार्षिक निरीक्षण,परेड की ली सलामी,दरबार में पुलिस कर्मचारियों की सुनी समस्याएं, SP कार्यालय का किया निरीक्षण,अधिकारियों की ली बैठक,दिए आवश्यक दिशा निर्देश,पढ़िए विस्तार से,,,,,

पुलिस अधीक्षक ने किया जिले के आधा दर्जन से अधिक थाना,चौकी का आकस्मिक निरीक्षण,लंबित मामलों का अविलंब निराकरण करने के दिये सख्त निर्देश,साथ ही मादक पदार्थ की तस्करी, जुआ-सट्टा पर पूर्णतः रोक लगाने के निर्देश दिए,,,

विजिबल पुलिसिंग के तहत सघन चेकिंग अभियान, 150 से अधिक नाबालिग वाहन चालक, तीन सवारी, शराब पीकर वाहन चलाने एवं मॉडिफाइड साइलेंसर वाले वाहन चालकों पर हुई कार्यवाही, 65 हजार से अधिक की हुई चलानी कार्यवाही,,,

Rashifal